दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर दिनांक 08 मार्च 2020 को प्रो. सरला भारद्वाज, सह-प्राध्यापक, बी. आर. अम्बेडकर महाविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा महिला सशक्तिकरण के विषय पर प्रह्लाद पुर, पूठ कलां, दिल्ली में वक्तव्य प्रस्तुत किया गया I

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी, उत्तरी क्षेत्र के न्यू रोहतक रोड पुस्तकालय के निकट सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन परिसर में दिनाक 07.03.2020 को “स्वच्छ भारत अभियान” के अन्तर्गत नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति की गई । रत्नाकर ड्रामेटिक आर्ट प्रोडक्शन द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगो में जागरूकता को बढ़ावा दिया गया l इस नुक्कड़ नाटक में कचरे के ढेर तथा पानी के अनुचित संग्रह से होने वाले नुकसान, कचरे के निपटान, खुले में शौच, गंदगी से होने वाली बिमारियों तथा कूड़ा जलने से होने वाली हानि के बारे में भी बताया गया तथा रेलवे स्टेशन पर उपस्थित सभी लोगों ने इसका आनंद लिया | इसके अतिरिक्त सभी उपस्थित लोगों को दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी की सेवाओं के बारें में बताया गया तथा सदस्यता फॉर्म भी बांटे गए |

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा दिनांक 16 तथा 17 फरवरी 2020 को चल पुस्तकालय केन्द्रों क्रमशः जहांगीरपुरी ( ब्लाक बी व ब्लाक के) तथा मयूर विहार में ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के अंतर्गत 5 से 14 वर्ष के बच्चों के लिए “सफाई अपनाएं बीमारी भगाएं” विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया | उक्त क्षेत्रों के बच्चों ने प्रतियोगिता में बढ़-चढ़कर भाग लिया | कार्यक्रम के अंत में विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया |

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा सरोजिनी नगर में “स्वच्छता अभियान” के अंतर्गत दिनांक, 11.06.2019 से 22.06.2019 तक बाल संस्कार चेतना एवं प्रतिभा जागरण कार्यक्रम (समर कैम्प) का आयोजन किया जा रहा है । इस कैम्प में बच्चों के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियां जैसे जोर से पढें, कहानी सुनाना, कहानी बनाना ,कहानी नाटकीयता,पुस्तक चिन्ह बनाना, रिडिजाईनिंग बुक कवर/क्राफ्ट एवं भाषा खेल आदि का आयोजन किया जाएगा । दिनांक, 13-6-2018, को सरोजिनी नगर पुस्तकालय कहानी बनाना सम्बंधित गतिविधियां करवाई गई एवं बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ाने हेतु विभिन्न खेलों के माध्यम से किया गया तथा भाग लेने वाले सभी बच्चों को अभ्यास करवाया गया बच्चों नें उत्साह के साथ इस कार्यक्रम में भाग लिया और कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद सभी बच्चों को जलपान भी दिया गया ।