दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी की सरोजिनी नगर शाखा में “महात्मा गाँधी के स्वच्छता एवं स्वास्थय के संबध में विचार” विषय पर वक्तव्य का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम में डा. प्रेमपाल शर्मा, पूर्व संयुक्त सचिव, रेलवे बार्ड, वक्ता के रूप में शामिल हुए ।

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी में पुरवार अचीवर्स फाउंडेशन(रजि.) के सहयोग से दिव्यांग बच्चों द्वारा कविता गायन, संगीत एवं नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन| मुख्य अतिथि के रूप में डॉ एम.के.बिमल, निदेशक, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण उपस्थित थे |भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण से सुश्री इंदु जैन और श्री एम.एम.एस चौहान भी उपस्थित थे |

Posted in DPL Activities

Workshop on women related problems

2विषय : दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी में महिलाओं से संबंधित समस्‍याओं पर संगोष्‍ठी का आयोजन।

दिनांक 2.8.2018 को दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी, केन्‍द्रीय पुस्‍तकालय के अमीर खुसरो सभागार में महिलाओं से संबंधित समस्‍याओं पर एक बैठक एवं संगोष्‍ठी का आयोजन किया गया । इस समारोह की अध्‍यक्षता श्रीमती संतोष खन्‍ना, मंत्री, विधि भारती तथा सदस्‍य, महिला शिकायत समिति, दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी ने की । इस अवसर पर प्रो. रतना बाली, सदस्‍य, विधि संकाय, डॉ. रिचा आशु, बालादेवी अस्‍पताल, प्रो. नीना पान्‍डेय, सदस्‍य, डी एस एस डब्‍ल्‍यू, दिल्‍ली लाइब्रेरी बोर्ड के अध्‍यक्ष डॉ. रामशरण गौड़ एवं दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी के महानिदेशक, डॉ. लोकेश शर्मा उपस्थित थे ।

सर्वप्रथम दीप प्रज्‍ज्‍वलन एवं सभी अतिथियों का स्‍वागत उतरीय, पुस्‍तक एवं पुष्‍पों द्वारा किया गया । अपने स्‍वागत भाषण में डॉ. रामशरण गौड़ ने समाज में महिलाओं के संघर्ष के बारे में बताया एवं उन्‍होंने कहा कि यह विषय बहुत महत्‍वपूर्ण है एवं प्राचीन काल से ही महिलाओं का काफी सम्‍मान रहा है और महिलाएं परिवार की धुरी है एवं समाज का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है ।  प्रो. रतना बाली ने महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा पर अपने विचार रखे एवं उन परिस्थितियों में क्‍या करना चाहिए इस पर प्रकाश डाला । उन्‍होंने इस सम्‍बंध में वर्तमान में संबंधित कानूनों को विस्‍तार से समझाया । डॉ. रिचा आशु ने महिलाओं के मानसिक एवं शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित काफी रोचक बातों को सबके समक्ष रखा । प्रो. नीना पाण्‍डेय ने वर्तमान समय में महिलाओं के साथ हो रहे छेड़छाड़ के मामलों एवं उनके प्रकार पर अपने विचार रखे और इन परिस्थितियों में साहस के साथ आगे बढ़ने के लिए प्ररित किया । अपने अध्‍यक्षीय भाषण में श्रीमती संतोष खन्‍ना ने सभी अतिथियों एवं उपस्थित सभी महिलाओं एवं अधिकारियों को धन्‍यवाद दिया और दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी के इस प्रयास की बहुत सराहना की । साथ ही उन्‍होंने महिलाओं से अपने अधिकारों को पहचानने एवं आगे बढ़कर समस्‍याओं का डटकर सामना करने के लिए प्रेरित किया । कार्यक्रम के अंत में दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी के महानिदेशक,  डॉ. लोकेश शर्मा ने सभी का आभार व्‍यक्‍त किया एवं दिल्‍ली पब्लिक लाइब्रेरी की ओर से सभी अति‍थियों को आश्‍वस्‍त किया कि उनके कार्यालय में महिलाओं के अधिकारों का पूरा ध्‍यान रखा जाएगा । अंत में राष्‍ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया ।