दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी मुख्यालय में दिनांक जनवरी 27, 2020 को ‘हिंदी का अतीत, वर्तमान एवं भविष्य’ विषय पर राजभाषा संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. बबीता गौड़, वरिष्ठ पुस्तकालय एवम् सूचना अधिकारी द्वारा की गई । संगोष्ठी हेतु निर्धारित प्रतिभागियों ने सीमित समय में सारगर्भित विचार व्यक्त किए। संगोष्ठी में आमंत्रित निर्णायकों श्री वेद प्रकाश गौड़, निदेशक (रा.भा.) संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार एवं श्री अशोक कुमार सचदेवा, पूर्व निदेशक (रा.भा.) जल संसाधन मंत्रालय ने संगोष्ठी में बढ़ चढ़कर भाग लेने पर प्रतिभागियों की सराहना की। प्रतिभागियों के प्रदर्शन के आधार पर निर्णायक मंडल द्वारा 4 प्रतिभागियों को प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं प्रेरणा पुरस्कार हेतु चयन किया गया ।

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा दिनांक 24 जनवरी, 2020 को “लोकतंत्र की उन्नति का आधार- देश प्रेम” विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया I प्रतियोगिता में रुक्मणी देवी जयपुरिया पब्लिक स्कूल, राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय, एस.बी.बी.एम. राजकीय सर्वोदय विद्यालय तथा बंगाली सीनियर सेकेंडरी स्कूल से 45 प्रतिभागियों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया तथा प्रदत्त विषय पर अपने विचार प्रकट किये गये I निर्णायक मंडल के रूप में श्री निशांत यादव, सहायक प्राध्यापक, राजनीति विज्ञान विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालय, श्री अविनाश सिंह, सहायक प्राध्यापक, अदिति महाविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय तथा श्री सन्नी कुमार, शिक्षक, श्यामा प्रसाद मुख़र्जी महिला महाविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय उपस्थित रहे I कार्यक्रम के अंत में विजेता प्रतिभागियों को अध्यक्ष, दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड तथा वरिष्ठ पुस्तकालय एवं सूचना अधिकारी, दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा पुरस्कृत किया गया I

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी द्वारा दिनांक 24 जनवरी, 2020 को “लोकतंत्र की उन्नति का आधार- देश प्रेम” विषय पर वक्तव्य का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में डॉ. एस.एस. अवस्थी, पूर्व सह-प्राध्यापक, पी.जी.डी.ए.वी. महाविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, डॉ. राम शरण गौड़, अध्यक्ष, दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड तथा डॉ. बबीता गौड़, वरिष्ठ पुस्तकालय एवं सूचना अधिकारी, दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी उपस्थित रहे । डॉ. बबीता गौड़ ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी गणमान्य जनों एवं श्रोताओं का स्वागत किया । मुख्य वक्ता ने अपने वक्तव्य में बताया कि देश प्रेम लोकतंत्र की प्रतिबद्धता एवं अखंडता को बनाये रखने में मुख्य भूमिका निभाता है । उन्होंने स्वामी दयानंद सरस्वती जी का उदाहरण देते हुए निर्भय एवं निर्भीक बनने तथा देश से प्रेम करने का आह्वाहन किया । डॉ. रामशरण गौड़ ने कार्यक्रम का समापन करते हुए बताया कि देश की स्वतंत्रता एवं सुरक्षा को बनाये रखने के लिए देश प्रेम अति आवश्यक है । उन्होंने सभा में उपस्थित सभी श्रोताओं से देश के प्रति सम्मान भाव रखने, पर्यावरण की रक्षा करने तथा विकृतियों की ओर ध्यान ना देने की अपील की ।

दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी मुख्यालय द्वारा दिनांक 10-01-2020 को विश्व पुस्तक मेला, प्रगति मैदान में “ महात्मा गाँधी का स्वच्छता सन्देश” विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया I इस कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. रामशरण गौड़, अध्यक्ष, दिल्ली लाइब्रेरी बोर्ड द्वारा की गई जिन्होंने गांधीजी के जीवन मूल्यों पर प्रकाश डाला I कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में श्री सीताराम गुप्ता, डॉ. नीरज भारद्वाज एवं श्री विश्वनाथ पांडेय (नीरद) उपस्थित रहे I सभी वक्ताओं ने स्वच्छता के अलग-अलग पहलुओं को दर्शाते हुए सभी को जीवन में स्वच्छता अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया I कार्यक्रम के अंत में डॉ. बबीता गौड़, वरिष्ठ पुस्तकालय एवं सूचना अधिकारी द्वारा श्रोताओं से अनुरोध किया गया कि हम सभी को स्वच्छता के प्रति सचेत रहना चाहिए ।